तृणमूल कांग्रेस ने वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन से बीजेपी के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की अपील की

Trinamool Congress appeals to Left Front-Congress alliance to fight unitedly against BJP - तृणमूल कांग्रेस ने वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन से बीजेपी के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की अपील की

0
7
तृणमूल कांग्रेस ने वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन से बीजेपी के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की अपील की

Trinamool Congress appeals to Left Front-Congress alliance to fight unitedly against BJP – तृणमूल कांग्रेस ने वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन से बीजेपी के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की अपील की

तृणमूल कांग्रेस ने वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन से बीजेपी के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की अपील की

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो).

कोलकाता:

तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) ने शनिवार को वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन (Left Front-Congress alliance) से भाजपा (BJP) के खिलाफ एकजुटता से लड़ाई लड़ने की अपील की, ताकि ”ज्यादा खतरनाक” भाजपा को राज्य में अपने पैर पसारने का मौका न मिल सके. हालांकि वाम दलों और कांग्रेस ने इस अपील को सिरे से खारिज कर दिया और टीएमसी को भाजपा की “बी टीम” करार दिया. पिछले एक महीने में यह दूसरी बार है जब टीएमसी ने वामपंथी दलों और कांग्रेस से राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा के खिलाफ एकजुट होकर लड़ाई लड़ने की अपील की है. भाजपा ने इस प्रस्ताव पर खुशी व्यक्त की और कहा कि यह साबित करता है कि राज्य में टीएमसी के सामने भगवा पार्टी ही एकमात्र विकल्प है. 294 सदस्यीय राज्य विधानसभा के चुनाव अप्रैल-मई में होने वाले हैं.

Trinamool Congress appeals to Left Front-Congress alliance to fight unitedly against BJP – तृणमूल कांग्रेस ने वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन से बीजेपी के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की अपील की

पश्चिम बंगाल के संसदीय मामलों के राज्यमंत्री, तापस रॉय ने कहा, “अगर वाममोर्चा और कांग्रेस वास्तव में भाजपा विरोधी हैं, तो उन्हें भगवा पार्टी की सांप्रदायिक और विभाजनकारी राजनीति के खिलाफ ममता बनर्जी की लड़ाई में सहयोग करना चाहिए.” उन्होंने कहा, “ममता बनर्जी और टीएमसी का विरोध कर उन्हें बंगाल में ज्यादा खतरनाक भाजपा को आमंत्रित करने की गलती नहीं करनी चाहिए. उन्हें त्रिपुरा की स्थिति को देखना चाहिए और यह तय करना चाहिए कि क्या करना है.”

यह पहली बार नहीं है जब टीएमसी ने भाजपा से लड़ने के लिए वाम मोर्चा और कांग्रेस के साथ एक मजबूत मंच के पक्ष में बात की है. कई अन्य टीएमसी नेताओं ने भी पहले इसी तरह की अपील की.

टीएमसी के प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देते हुए, राज्य के वरिष्ठ कांग्रेस नेता अब्दुल मन्नान ने बंगाल में भाजपा के उभार के लिए तृणमूल को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा, “टीएमसी के साथ गठबंधन करने में हमारी कोई दिलचस्पी नहीं है. पिछले 10 वर्षों से हमारे विधायकों को फंसाने के बाद टीएमसी अब हमारे साथ गठबंधन में क्यों दिलचस्पी ले रही है? ममता बनर्जी के कारण ही भाजपा बंगाल में इतना बढ़ पाई है.”

माकपा के वरिष्ठ नेता सुजान चक्रवर्ती ने कहा कि भाजपा और टीएमसी दोनों राज्य में वाम और कांग्रेस को कमजोर दल के रूप में प्रचार करने के बाद वाम दलों के वोटों को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं. चक्रवर्ती ने कहा कि वामपंथी और कांग्रेस अगले चुनावों में टीएमसी और भाजपा दोनों को हराएंगे.

भाजपा ने कहा कि टीएमसी की अपील से यह साबित होता है कि पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी पार्टी अपने दम पर भगवा पार्टी के खिलाफ लड़ाई नहीं लड़ सकती. भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, “यह टीएमसी की हताशा को भी साबित करता है. वे अपने दम पर हमारे खिलाफ नहीं लड़ सकते हैं, इसलिए वे अन्य दलों से मदद मांग रहे हैं. इससे यह भी साबित होता है कि भाजपा टीएमसी के सामने एकमात्र विकल्प है.”

(इस खबर को HamaraTimes टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here