चालू वित्‍त वर्ष में भारतीय इकोनॉमी में आ सकती है 8% की गिरावट : FICCI सर्वे

India’s GDP to contract 8% in FY21: FICCI Survey - चालू वित्‍त वर्ष में भारतीय इकोनॉमी में आ सकती है 8% की गिरावट : FICCI सर्वे

0
225
चालू वित्‍त वर्ष में भारतीय इकोनॉमी में आ सकती है 8% की गिरावट

India’s GDP to contract 8% in FY21: FICCI Survey – चालू वित्‍त वर्ष में भारतीय इकोनॉमी में आ सकती है 8% की गिरावट : FICCI सर्वे

चालू वित्‍त वर्ष में भारतीय इकोनॉमी में आ सकती है 8% की गिरावट : FICCI सर्वे

सर्वे के अनुसार उद्योग एवं सेवा क्षेत्रों में 2020-21 के दौरान गिरावट आने की आशंका है (प्रतीकात्‍मक फोटो)

नई दिल्ली:

भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में वित्त वर्ष 2020-21 में 8% की गिरावट आने का अनुमान है. उद्योग व वाणिज्य संगठन फिक्की के आर्थिक परिदृश्य सर्वेक्षण (FICCI Survey) के नए दौर में यह बात सामने आई है. FICCI ने कहा कि सर्वेक्षण जनवरी में किया गया है. इसके परिणाम उद्योग जगत, बैंकिंग और वित्तीय सेवा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले शीर्ष अर्थशास्त्रियों की प्रतिक्रियाओं पर आधारित हैं. सर्वेक्षण के अनुसार, कृषि एवं संबद्ध गतिविधियां वित्त वर्ष 2020-21 में 3.5 प्रतिशत की दर से वृद्धि दर्ज कर सकती हैं.

यह भी पढ़ें

चालू वित्‍त वर्ष में भारतीय इकोनॉमी में आ सकती है 8% की गिरावट

Year Ender 2020 : Covid-19 से पस्त तो हुई इकोनॉमी, लेकिन इन सेक्टरों को हुआ फायदा

FICCI ने सर्वेक्षण के परिणामों में कहा, ‘‘कृषि क्षेत्र ने महामारी के दौरान बढ़िया लचीलापन प्रदर्शित किया है. रबी की अच्छी बुवाई, अच्छे मानसून, जलाशयों के उच्च स्तर और ट्रैक्टरों की बिक्री में मजबूत वृद्धि से कृषि क्षेत्र में तेजी के संकेत मिलते हैं.” हालांकि महामारी के चलते सर्वाधिक प्रभावित उद्योग एवं सेवा क्षेत्रों में 2020-21 के दौरान क्रमश: 10 प्रतिशत और 9.2 प्रतिशत की गिरावट आने की आशंका है.सर्वे में कहा गया कि औद्योगिक क्षेत्र का पुनरुद्धार गति पकड़ रहा है, लेकिन वृद्धि अभी व्यापक नहीं है. लॉकडाउन के दौरान क्षीण पड़ जाने के बाद त्योहारी सत्र में उपभोग संबंधी गतिविधियां कुछ तेज हुईं, लेकिन इसका बने रहना महत्वपूर्ण है.

मंदी की चेतावनी के बाद सरकार ने अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार के लिए उठाए कदम, 10 बातें..

इसके अलावा पर्यटन, आतिथ्य, मनोरंजन, शिक्षा, और स्वास्थ्य जैसे क्षेत्र, जिनमें संपर्क की आवश्यकता होती है, अभी भी सामान्य स्थिति से दूर हैं.सर्वेक्षण में शामिल भागीदारों ने अनुमान व्यक्त किया कि 2020-21 की तीसरी तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 1.3 प्रतिशत की गिरावट आ सकती है. चौथी तिमाही में वृद्धि सकारात्मक राह पर लौट सकती है और GDP 0.5 प्रतिशत बढ़ सकती है.

त्योहारों से पहले सरकार ने बाजार की मंदी को दूर करने के लिए उठाया कदम

(इस खबर को HamaraTimes टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

For the latest news and reviews keep visiting HamaraTimes.com

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here