दिल्ली में झड़पों के बीच यहां किसानों-पुलिस ने एक दूसरे को दिए गुलाब और खाना

Between the clashes in Delhi, farmers and police shares roses and meals - दिल्ली में झड़पों के बीच यहां किसानों-पुलिस ने एक दूसरे को दिए गुलाब के फूल और खाना

0
307
दिल्ली में झड़पों के बीच यहां किसानों-पुलिस ने एक दूसरे को दिए गुलाब के फूल और खाना

Between the clashes in Delhi, farmers and police shares roses and meals – दिल्ली में झड़पों के बीच यहां किसानों-पुलिस ने एक दूसरे को दिए गुलाब के फूल और खाना

दिल्ली में झड़पों के बीच यहां किसानों-पुलिस ने एक दूसरे को दिए गुलाब के फूल और खाना

किसानों-पुलिस ने एक दूसरे को दिए गुलाब के फूल और खाना

नई दिल्ली:

गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में किसानों द्वारा निकाली गई ट्रैक्टर रैली के दौरान प्रदर्शनकारियों ने काफी हंगामा मचाया. लेकिन वहीं दिल्ली और यूपी के बॉर्डर पर कुछ ऐसे दृश्य भी देखने को मिले, जो दिल को छू जाए. चिल्ला बॉर्डर पर किसान और पुलिसकर्मियों ने एक-दूसरे को फूल दिया. भारत किसान यूनियन (BKU) के यूपी अध्यक्ष योगेश प्रताप सिंह ने नोएडा पुलिस के एडिशनल डिप्टी कमिश्नर रणविजय सिंह को गुलाब का फूल भेंट किया. यहां तक कि उन्होंने प्रदर्शनकारियों द्वारा तैयार किए हुए खाने को भी खाया. यह तब हुआ जब अध‍िकारी ने बीकेयू (भानु) के सदस्यों और समर्थकों को प्रदर्शन स्थल पर जाने से नहीं रोका.

यह भी पढ़ें

दिल्ली में झड़पों के बीच यहां किसानों-पुलिस ने एक दूसरे को दिए गुलाब के फूल और खाना

‘किसानों से योगेंद्र यादव की अपील, ‘आंदोलन की इज्‍जत आपके हाथ, कुछ ऐसा न हो कि यह बदनाम हो’

पिछले दो महीने से, राज्य पुलिस चिल्ला बॉर्डर तक पहुंचने के लिए लोगों को रोक रखा है. ट्रैक्टर को मेरठ और आगरा में ही रोक दिया गया. आज के ट्रैक्टर रैली में यूपी के किसान हिस्सा लेने कम पहुंच सके. नोएडा के एडिशनल डीसीपी ने बताया कि किसानों ने मुस्कुराते हुए उन्हें गुलाब के फूल दिए. बता दें कि बता दें कि चिल्ला बॉर्डर पर अब भी कुछ हलचल जारी है. कुछ किसान चिल्ला बॉर्डर से अपना प्रदर्शन शुरू किया, लेकिन वह निर्धारित रास्ते से भटक गए थे. करीब 2 किलोमीटर तक जाने के बाद उन्हें पुलिस द्वारा वापस भेज दिया गया.

दिसंबर से ही चिल्ला बॉर्डर आंशिक रूप से ब्लॉक किया जा चुका है और आज की रैली से लौटने के बाद कुछ किसानों ने इसे पूरी तरह से ब्लॉक करने का फैसला किया. हालांकि, बीकेयू (भानु) नेताओं ने सुनिश्चित किया कि चीजें हाथ से बाहर न निकलें.

मंगलवार की सुबह योजनाबद्ध तरीके से ट्रैक्टर रैली निकालने वाले किसान अनियंत्रित दिखे. इतना ही नहीं, कई अचंभित कर देने वाली तस्वीर भी सामने आई. किसानों की ओर से निकाली गई रैली के दौरान ट्रैक्‍टर हादसे में एक किसान की मौत भी हो गई. पुलिस ने इसकी पुष्टि की है. जानकारी के अनुसार, आईटीओ के पास डीडीयू मार्ग के पास एक किसान की हादसे में मौत हुई है. पुलिस का कहना है कि ट्रैक्टर तेज चला रहा था और ट्रेक्टर पलट गया जिससे उसकी मौत हुई.

Farmars’ Rally: किसानों की ट्रैक्टर परेड हिंसक होने के बाद बंद किया गया कनॉट प्लेस

गौरतलब है कि किसानों की ट्रैक्‍टर रैली के दौरान  राष्ट्रीय राजधानी में कई स्थानों पर पुलिस और प्रदर्शनकारी किसानों के बीच झड़प हुई है. पुलिस ने मंगलवार को किसानों पर तब लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े जब पूर्व निर्धारित मार्ग से हटकर उनकी परेड आईटीओ सहित कई अन्य स्थानों पर पहुंच गई. किसान राजपथ की ओर जाना चाहते थे.

दिल्ली पुलिस ने किसानों को राजपथ पर आधिकारिक गणतंत्र दिवस परेड समाप्त होने के बाद निर्धारित मार्गों पर ट्रैक्टर परेड की अनुमति दी थी.हालांकि, उस समय अफरातफरी की स्थित पैदा हो गई जब किसान मध्य दिल्ली की ओर जाने पर अड़ गए.किसानों ने तय समय से पहले ही परेड शुरू कर दी और मध्य दिल्ली के ITO पहुंच गए और लुटियन दिल्ली में दाखिल होने की कोशिश करने लगे. प्रदर्शनकारी डंडे लिए हुए थे और आईटीओ पर वे पुलिस के साथ भिड़ गए.

For the latest news and reviews keep visiting HamaraTimes.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here