हूच की वजह से गयी ग्यारह लोगो की जान

हूच (एक तरह की शराब) की वजह से गयी ग्यारह लोगो की जान. सोमवार को होली के बाद से Bihar (शराब बंद) बिहार और उत्तर प्रदेश में संदिग्ध जहर के कारण

0
30
हूच की वजह से गयी ग्यारह लोगो की जान

हूच (एक तरह की शराब) की वजह से गयी ग्यारह लोगो की जान

सोमवार को होली के बाद से Bihar(शराब बंद) बिहार और उत्तर प्रदेश में संदिग्ध जहर के कारण कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई है. जबकि बिहार के नवादा, बेगूसराय और रोहतास जिलों में एक साथ 11 मौतें हुई हैं, बाकी चार मौतें यूपी के प्रतापगढ़ जिले में हुई हैं.

बिहार में पुलिस, हालांकि, किसी भी मौत की पुष्टि नहीं की और घटनाओं की जांच कर रही थी. बेगूसराय को छोड़कर, जहां पुलिस ने बुधवार को पोस्टमार्टम करने के लिए शवों को कब्जे में ले लिया, अन्य जिलों में मृतक का अंतिम संस्कार उनके परिजनों द्वारा किया गया, जिससे प्रशासन के लिए मौत का कारण पता लगाना मुश्किल हो गया.

हूच (एक तरह की शराब) की वजह से गयी ग्यारह लोगो की जान.

बेगूसराय के गोरियारी गाँव से दो, नवादा में बदहौनी पंचायत से चार और रोहतास में कोचस और करगहर से दो मौतें हुईं.
बेगूसराय के डीएम अरविंद कुमार वर्मा ने कहा कि एसपी आकाश कुमार के साथ उन्होंने मौतों के बारे में रिपोर्ट मिलने के बाद गांव का दौरा किया. “हालांकि, मृतक के परिवार के सदस्यों, वार्ड सदस्यों और ग्रामीणों ने इस बात से इनकार किया कि उन्होंने शराब का सेवन किया था.

हमने मामले की आगे की जांच के लिए अप्राकृतिक मौत के मामले दर्ज करने का फैसला किया है. वर्मा ने कहा कि गांव के एक वीरेंद्र का बेगूसराय के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है. “उन्होंने शराब का सेवन करने से इनकार किया। मृतक का पोस्टमॉर्टम करवाया गया है और विसरा सुरक्षित रखा गया है.

एक प्रश्न के उत्तर में, डीएम ने स्वीकार किया कि 22 मार्च को छापे के दौरान गांव से 400 लीटर देशी शराब जब्त की गई थी। संयोग से, नवादा में चार में से दो मृतक भी उल्टी, दस्त और सांस की तकलीफ से पीड़ित थे.

जब बिहार में बहोत लम्बे समय से पूर्ण रूप से शराब बंदी है फिर इस तरह की घटना कैसे हो जाती है? आये दिन ख़बरों में आता है अमुख जगह पे इतनी विदेशी शराब पकड़ी गयी. मतलब बिहार के सीमा पे प्रशासन कर क्या रहा है?

ताज़ा ख़बरों और विश्लेषण के लिए हमारा टाइम्स पढ़िए और अपनों को पढ़वाईये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here