पूर्व वित्त मंत्री के निधन पर वकीलों में भी मायूसी

0

पूर्व वित्त मंत्री के निधन पर वकीलों में भी मायूसी

न्यूज़ डेस्क-पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार दोपहर 12.07 बजे दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में निधन हो गया। वो काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार समेत नरेन्द्र मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में भी वो केंद्रीय कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। एक मुखर नेता के साथ-साथ वो एक जाने माने वकील भी रह चुके है।यही वजह है की उनके निधन पर जितना दुःख राजनितिक पार्टियों में है कही न कहीं उससे ज्यादा दुःख वकालत करने वालों के बिच में भी है। वो कई बार दिल्ली रोहिणी कोर्ट में भी जा चुके है। उनके पिछले फोटो को देख कर रोहिणी कोर्ट के वकील भावुक हो गए और शान्ति की कामना की।

रोहिणी कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता आशकार हुसैन पाशा ने कहा की पूर्व वित्त मंत्री के निधन पर पूरा वकीलों का कुनबा अकेला महसूस कर रहा है। अरुण जेटली एक अच्छे नेता के साथ-साथ सुप्रीम कोर्ट के महान वकील भी थे। हमलोगों को उनसे बहुत कुछ सिखने का मौका मिला है। वो रोहिणी कोर्ट भी आये थे तो उन्होंने वकीलों को लेकर कई बाते की थी और वकीलों को कई टिप्स दिए थे जो आज भी हम लोगों को याद है।पूरा वकीलों का कुनबा उन्हें कभी नहीं भुला पायेगा। आगे उन्होंने कहा रोहिणी कोर्ट के वकीलों द्वारा मैं उन्हें सच्चे मन से श्रद्धांजलि पेश करता हूँ और भगवन से दुआ करता हूँ उनकी आत्मा को शान्ति दे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here