लॉ छात्र-छात्राओं के लिए एमिटी यूनिवर्सिटी में किया गया प्रतियोगिता का आयोजन

नॉएडा सेक्टर 125 में स्थित एमिटी यूनिवर्सिटी के एमिटी लॉ स्कूल ने विशव प्रसिद्ध Manfred Lachs Space Law Moot Court Competition 2019 का आयोजन किया ।

लॉ छात्र-छात्राओं के लिए एमिटी यूनिवर्सिटी में किया गया प्रतियोगिता का आयोजन

न्यूज़ डेस्क-आए दिन स्कूलों और कॉलेजों में कोई न कोई प्रतियोगिता होते रहते है लेकिन इसी कड़ी में एमिटी यूनिवर्सिटी ने बीते दिनों ऐसी प्रतियोगिता का आयोजन किया जिसने पुरे देश में चार चाँद लगा दिया। नॉएडा सेक्टर 125 में स्थित एमिटी यूनिवर्सिटी के एमिटी लॉ स्कूल ने विशव प्रसिद्ध Manfred Lachs Space Law Moot Court Competition 2019 का आयोजन किया । जो 28 मार्च से लेकर 31 मार्च तक चला। इस प्रतियोगिता में हिन्दुस्तान समेत कई विदेशों के छात्र-छात्राओं ने भी शिरकत की।

यह प्रतियोगिता विशव भर में ”लॉ स्कूलों के लिए स्पेस लॉ” पर होने वाली एक मात्र प्रतियोगिता है। एशिया-पैसिफिक राउंड्स प्रतियोगिता में 36 स्कूलों के छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया। इसमें से 25 टीम हिन्दुस्तान के अलग-अलग लॉ कॉलेजों के बच्चे थे वहीं 11 टीम विदेश के अलग-अलग आठ देशों के थे। इस प्रतियोगिता में पहला स्थान नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ सिंगापूर व स्कूल ऑफ़ लॉ वोहान यूनिवर्सिटी चाइना ने हासिल किया।

समापन और पुरस्कार वितरण समारोह में सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस एम्.आर.शाह, उत्तराखंड विधि आयोग के चेयरमैन राजेश टंडन, Ambassador of Ecuador to India, New Delhi हेक्टर क्यूयेवा, हिमालियन गढ़वाल यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो.डॉ.एन.के.सिन्हा, प्रो.डॉ.ए.के.कौल, पूर्व-कुलपति एन.एल.यू रांची,प्रो. डॉ. एस.एम्.सिंह, डीन एमिटी लॉ स्कूल प्रो. डॉ. डी.के.बंदोपाध्याय,चेयरमैन एमिटी प्रो.डॉ.बलविंदर शुक्ला, कुलपति महोदया प्रो.डॉ.सुनीता सिंह,उप-कुलपति महोदय प्रो.डा.आदित्य तोमर, विभागाध्यक्ष एमिटी लॉ स्कूल सह- प्राध्यापक डॉ.कोमल वीग , सह – प्राध्यापक डॉ सुमित्रा सिंह ने समापन समारोह में भाग लेकर समारोह को सफल बनाया। समारोह में प्रो. डॉ. आदित्य तोमर व डॉ. सुमित्रा सिंह द्वारा सम्पादित किताब ”जेंडर डिस्कोर्स एंड लीगल प्रोस्पेक्टिव’’ का भी विमोचन किया।

भारत में पहली बार होने वाली ”एशिया-पैसिफिक राउंड्स ऑफ़ मैन्फार्ड लेक्स स्पेस लॉ प्रतियोगिता 2019” लॉ के छात्रों के लिए बहुत महत्वपूर्ण व गरिमान्य है।इस प्रतियोगिता के विजेता इस प्रकार है-बेस्ट मेमोरियल-गुजरात नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, श्रेष्ठ वक्ता ( प्रेलिमिनारी राउंड)-नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ सिंगापूर, श्रेष्ठ वक्ता (फाइनल राउंड)-नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ सिंगापूर,इसके साथ साथ विशेष उपलब्धि-सिटी यूनिवर्सिटी होंकोंग,नेशनल अकादमी ऑफ़ लीगल स्टडीज एंड रिसर्च हैदराबाद,नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी दिल्ली,नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी मुंबई व यूनिवर्सिटी ऑफ एडिलेड का रहा।

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस एम्.आर.शाह ने सभागार में मौजूद लोगों से मुखातिब होते हुए कहा ”इस तरह के आयोजन के लिए मैं एमिटी यूनिवर्सिटी को बधाई देता हूँ। इन्होने स्पेस लॉ को लेकर बाते की। उनका कहना था की एक अच्छा वकील तभी बना जा सकता है जब तथ्य और लॉ की अच्छी समझ हो। किसी भी कामयाब वकील के पीछे के चार P का उदाहरण दिया। 4P का मतलब- Prepare, Present, Persuade और  Punctuality है।

प्रो. डा. एडिशनल डायरेक्टर एमिटी लॉ स्कूल ने सभागार में मौजूदा सभी लोगों का धन्यवाद किया। साथ इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले प्रतिभागियों का भी शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा की आज के इस कीमती दौर में आप लोगों ने समय निकाला इसके लिए मैं दिल से आप लोगों का धन्यवाद करता हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here